चाँद में नज़र कैसे आए तेरी सूरत मुझको, आँधियों से आसमाँ का रंग मैला हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *