जाने क्या मुझसे यह ज़माना चाहता है, मेरा दिल तोड़कर मुझे ही हसना चाहता है, जाने क्या बात झलकती है मेरे चेहरे से, हर शख्स मुझे आज़माना चाहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *