न चाहते हुए भी मेरे लब पर ये फरियाद आ जाती है, ऐ चाँद सामने न आ सनम की याद आ जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *