बेखुदी की जिंदगी हम जिया नहीं करते, जाम दूसरों से छीनकर हम पिया नहीं करते, उनको महोबत है तो आकर इज़हार करें, पीछा हम भी किसीका किया नहीं करते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *