दूरियों की परवाह न कीजिए, दिल जब भी पुकारे हमें बुला लीजिए, हम बहुत दूर नहीं आपसे, बस अपनी आँखों को पलकों से मिला लीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *